Featured Post

एक लड़की भीगी भागी सी ...स्वर -अल्पना

गीतकार-मजरूह सुल्तानपुरी

May 15, 2017

एक लड़की भीगी भागी सी ...स्वर -अल्पना



गीतकार-मजरूह सुल्तानपुरी
MP3 Download or Play

संगीतकार- एस.डी.बर्मन 
मूल गायक-किशोर कुमार 
कवर गायिका-अल्पना वर्मा 
गीत के बोल -
एक लड़की भीगी भागी सी,
सोती रातों में जागी सी
मिली एक अजनबी से,
कोई आगे ना पीछे
तुम ही कहो ये कोई बात है
दिल ही दिल में जली जाती है,
बिगड़ी बिगड़ी चली आती है
झुंझलाती हुई,बलखाती हुई,
सावन की सूनी रात में
मिली एक अजनबी से,
कोई आगे ना पीछे
तुम ही कहो ये कोई बात है
एक लड़की भीगी भागी सी
डगमग डगमग लहकी लहकी,
भूली भटकी,बहकी बहकी
मचली मचली,घर से निकली,
पगली सी काली रात में
मिली एक अजनबी से,
कोई आगे ना पीछे
तुम ही कहो ये कोई बात है
एक लड़की भीगी भागी सी
तन भीगा है,सर गीला है,
उसका कोई पेंच भी ढीला है
तनती झुकती,
चलती रुकती,
निकली अंधेरी रात में
मिली एक अजनबी से,
कोई आगे ना पीछे
तुम ही कहो ये कोई बात है
एक लड़की भीगी भागी सी,
सोती रातों में जागी सी
मिली एक अजनबी से,
कोई आगे ना पीछे
तुम ही कहो ये कोई बात है
======================

No comments: